जिंदगी की कीमत – #Short Story

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक बार की बात है,  एक बच्चा था | एक दिन अचानक उसके मन में ख्याल आया की उसकी जिंदगी की असली कीमत क्या है | बच्चे ने अपने पापा से पूछा कि “पापा मेरी जिंदगी की क्या कीमत है “| पापा ने कहा : “अगर तुम सच में अपनी जिंदगी की सही कीमत जानना चाहते हो तो मैं तुम्हें एक पत्थर देता हूँ | इस पत्थर को लेकर मार्केट  में चले जाना और अगर कोई इसका price पूछे तो कुछ मत कहना बस अपनी दो उंगली कड़ी कर देना |

वो लड़का उस पत्थर को लेकर  मार्केट चला गया | वो कुछ देर तो उस पत्थर को लेकर ऐसे ही बैठा रहा | लेकिन कुछ देर बाद ही एक बूढी औरत उसके पास आई और उस पत्थर का price पूछने लगी | वो लड़का बिलकुल चुप रहा | उसने कुच्छ भी नहीं कहा | बस अपनी दो उंगलियाँ खड़ी कर दी | तभी वो बूढी औरत बोली : “200 रुपये, ठीक है इस पत्थर को मैं तुमसे खरीद लूंगी” | वो बच्चा एक दम से shocked हो गया की एक मामूली से पत्थर की कीमत 200 रुपये जो कि आसानी से कहीं भी मिल जाता है | वो तुरंत अपने पापा के पास गया और बोला : “पापा मुझे मार्केट में एक बूढी औरत मिली थी और इस पत्थर के 200 रुपये देने को तैयार थी” | उसके पापा ने कहा : “इस बार तुम इस पत्थर को म्यूजियम में लेकर जाना और अगर कोई इसका price पूच्छे तो कुछ मत कहना, बस अपनी दो उंगली कड़ी कर देना” | वो लड़का म्यूजियम में गया और वहां पर एक आदमी की नज़र उसके हाथ में रखे पत्थर पर पड़ी | और तभी उसने उस पत्थर का price पूछा | वो बछा एकदम चुप रहा और फिर से उसने अपनी दो उंगलियाँ कड़ी कर दी | तभी वो आदमी बोला : “20,000 रुपये, ठीक है इस पत्थर के मैं तुम्हें  20,000 रुपये देने को तैयार हूँ | ये पत्थर तुम मुझे दे दो” | वो लड़का फिर से shocked हो गया और जाकर अपने पापा से कहा : “पापा म्यूजियम में मुझे एक आदमी मिला था और इस पत्थर के 20,000 रुपये देने को तैयार था” | तभी उसके पापा ने कहा : “अब मैं तुम्हें आखरी जगह भेजने जा रहा हूँ | अब तुम्हें जाना है कीमती पत्थरों की दुकान पर और अगर वहां पर भी अगर कोई price पूछे तो कुच्छ मत कहना बस फिर से अपनी दो उंगलियाँ कड़ी कर देना” | वो लड़ना जल्दी से कीमती पत्थरों की दुकान पर गया और उसने एक बूढ़े आदमी को काउंटर के पीछे खड़ा हुआ देखा | जैसे ही उस बूढ़े इंसान की नज़र उस पत्थर पर पड़ी वो एकदम shocked हो गया वो काउंटर से बहार निकला और तुरंत उस बच्चे के हाथ से वो पत्थर छुड़ा लिया और बोला “Oh My God” इस पत्थर की तलाश में मैंने अपनी पूरी जिंदगी गुजर दी | कहाँ से मिला तुम्हे ये पत्थर और इसका price क्या है | वो बच्चा चुप रहा और फिर से अपनी दो उंगलियाँ कड़ी कर दी | तभी वो बूढा आदमी बोला : “कितने 2 lakh रुपये | ठीक है मैं इस पत्थर के लिए तुम्हें 2 lakh रुपये देने को तैयार हूँ, कृपया करके तुम ये पत्थर मुझे दे दो | उस लड़के को अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हो रहा था | वो जल्दी से अपने पापा के पास पहुंचा और बोला : “पापा वो बूढा आदमी इस पत्थर के लिए मुझे 2 lakh रुपये देने को तैयार है | तभी उसके पापा ने कहा : “क्या तुम समझे अपनी जिंदगी की कीमत | आपकी जिंदगी की कीमत इस बात पर निर्भर करती है कि आप अपने आप को कहा रखते हैं | ये आपको decide करना है की आपको 200 रूपये का पत्थर बनना है या फिर 2 lakh का” |

जिंदगी में बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं जो आपसे बहुत प्यार करते हैं उनके लिए आप सब कुच्छ हैं | और कुच्छ लोग ऐसे भी होते हैं जो आपको सिर्फ एक वास्तु के रूप में उपयोग करेंगे, उनके लिए आप कुच्छ भी नहीं हो | 

ये आपके ऊपर निर्भर करता है कि आपकी जिंदगी की असली कीमत क्या होगी |


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Specify Facebook App ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Facebook Login to work

Specify Google Client ID and Secret in the Super Socializer > Social Login section in the admin panel for Google Login to work

Your email address will not be published.